ऑक्सीजन के लिए 67 वर्षीय बुजुर्ग ने पीपल के पेड़ पर डाला डेरा

कोरोना महामारी के बीच जब सब का जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है, वहीं कुछ ऐसी खबरें भी सामने आ रही हैं जहां लोग अपने बचाव के लिए प्रकृति का शरण ले रहे हैं। ऐसी ही एक खबर इंदौर के पास के गांव से आती है, जिसे पढ़कर लोगों के मन में उम्मीद के अंकुर फूट पड़ेंगे।

आप को पढ़कर शायद हैरानी हो लेकिन राजेंद्र पाटीदार ने शुद्ध हवा के लिए पीपल के पेड़ पर डेरा डाल लिया है। 67 वर्ष के राजेंद्र, इंदौर के समीप राऊ रंगवासा के रहने वाले हैं। उन्हें दिन में जब भी मौका मिलता है वह पीपल के पेड़ पर चढ़कर बैठ जाते हैं। यही नहीं, पेड़ पर बैठने के लिए उन्होंने कुर्सी भी रख ली है। साथ ही, वह पेड़ पर बैठकर योग भी कर लेते हैं। उनका दावा है कि पेड़ पर बैठने की वजह से उनका ऑक्सीजन लेवल 99 पर बना हुआ है। शुरुआत में उनका परिवार उनकी इस आदत से परेशान था लेकिन अब वह भी खुश हैं और पेड़ पर ही उन्हें सारी चीजें मुहैया कराते हैं। यदि किसी को उनसे बात करनी हो तो वह पेड़ पर बैठे-बैठे ही लोगों से संवाद करते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पीपल ही एक मात्र ऐसा पेड़ है, जो हमें 24 घंटे ऑक्सीजन प्रदान करता है। राजेंद्र पाटीदार द्वारा किए गए इस कार्य को देखकर प्रकृति के महत्व का एहसास होता है। ऐसा लगता है मानो कि यह आपदा हमें प्रकृति की तरफ वापस लौटने का एक संकेत दे रहा है।‌ आपदा के समय में भी प्रकृति हमें संरक्षण दे रही है। जरूरत है कि हम अंधाधुन पेड़ काटने की जगह अधिकाधिक पौधारोपण करें। यह हमारे समाज के लिए और हमारे आने वाले भविष्य के लिए एक महत्वपूर्ण योगदान होगा।

– अंकिता पाण्डेय

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *