आज हम बात करेंगे शादी में की गई एक नई पहल की जिसने सोचने की दिशा को बदल दिया। भारतीय शादी में गरीब से गरीब और अमीर से अमीर व्यक्ति काफी रुपये का खर्च करता है। उस खर्च की शुरुआत शादी के कार्ड से शुरू होती है।

चाहे उस शादी के कार्ड का एक ही दिन प्रयोग हो। परंतु फिर भी हर साल शादियों के कार्ड बनाने के लिए लाखों पेड़ों को काटा जाता है जिससे पर्यावरण का संतुलन बिगड़ता जा रहा है इस को मध्य नजर रखते हुए भोपाल के एक शादी वाले जोड़े में ने अपनी शादी में शादी का कार्ड ना छुपा कर 400 से 500 गमले में पौधे लगवाए, और सभी रिश्तेदारों को वही गमले भिजवाए गए ताकि सभी को पर्यावरण के महत्व और पर्यावरण के योगदान के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके उनकी इस पहल से पुराने पेड़ों को कार्ड बनाने के लिए ना काटा गया और पर्यावरण को कुछ नए पौधे मिले जिनसे लोगों में पर्यावरण के प्रति एक नई सोच की दिशा मिली ,और यह पर्यावरण के महत्व को लोगों तक पहुंचाने के लिए एक अच्छी पहल है। उनकी यह पहल प्रशंसा के योग्य है।
– नेहा गुप्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.